Tagged: Bhavani Prasad Mishr

Bhavani Prasad Mishr

Bhavani Prasad Mishr

आज पानी गिर रहा है,
बहुत पानी गिर रहा है,
रात भर गिरता रहा है,
प्राण मन घिरता रहा है,